WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

Working Women Hostel Scheme 2024| महिलाओ को आत्मनिर्भर बनाने के लिए

Working Women Hostel Scheme:

working women hostel scheme


महिलाओं के विकास के लिए सरकार बहुत सारी योजनाएं चलाती है। इनमें से कुछ योजनाएं हैं जो महिलाओं को पढ़ाई कराने और उनके कौशलों को बढ़ाने का काम करती हैं। लेकिन जब बात काम करने वाली महिलाओं की आती है, तो सरकार को उनके लिए ठीक से रहने की जगह बनाना चाहिए। केंद्र सरकार ने 6 अप्रैल 2017 को Working Women Hostel Scheme शुरू की, जिसका उद्देश्य काम करने वाली महिलाओं को स्वावलंबी बनाना था।

काम करने वाली महिलाओं के लिए वर्किंग वुमेन हॉस्टल स्कीम (Working Women Hostel Scheme)चलाई है। इसका उद्देश्य है महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाना। इस योजना के अंतर्गत, आवास के लिए योग्यता, लाभ और उद्देश्य के बारे में जानकारी इस आर्टिकल में दी गई है। यहाँ तक कि यह कैसे महिलाओं को सहारा प्रदान कर सकती है, इसकी भी चर्चा की गई है।

वर्किंग वीमेन हॉस्टल स्कीम क्या है?

महिलाओं को स्वतंत्र और मजबूत बनाने के लिए, सरकार न केवल केंद्र स्तर पर बल्कि राज्य स्तर पर भी काम कर रही है। वर्किंग वीमेन हॉस्टल स्कीम 2017″ के तहत, देश की कामकाजी महिलाओं को ध्यान में रखते हुए, उन्हें सुरक्षित आवास की सुविधा प्रदान की जा रही है। इस योजना का मुख्य उद्देश्य यह है कि जो महिलाएं गरीबी रेखा से नीचे हैं और दूसरे शहरों में काम करने के लिए अपने परिवारों से दूर रहना चाहती हैं, उन्हें सुरक्षित रहने की सुविधा उपलब्ध कराई जाए।

Overview Of Working Women Hostel Scheme

योजनाWorking Women Hostel Scheme
श्रेणीकेंद्र सरकार
सम्बंधित विभागमहिला एवं बाल विकास विभाग
योजना के लाभार्थीदेश की कामकाजी महिलाएं (समाज से वंचित तथा शारीरिक रूप से कमजोर महिलाओं को वरीयता )
योजना शुरू की गयी6 अप्रैल 2017
योजना का उद्देश्यदेश में सभी कामकाजी महिलाओं (जो परिवार से दूर हैं ) को सुरक्षित आवास प्रदान करना
योजना का लाभसरकार द्वारा कामकाजी महिलाओं (एकल , तलाकशुदाविवाहित, विधवा) को आवास उपलब्ध करना

Working Women Hostel Scheme Objectives / उद्देश्य

  • सरकार चाहती है कि देश की सभी कामकाजी महिलाएं सुरक्षित और सुखद आवास में रहें। इसके लिए, वर्किंग वीमेन हॉस्टल स्कीम के जरिए सरकार उन्हें हॉस्टल या आवास पहुंचाना चाहती है।
  • इस योजना का मुख्य उद्देश्य है कि महिलाएं जहाँ भी काम कर रही हैं, उन्हें वहां सुरक्षित और सुविधाजनक आवास मिले। यह उन्हें कस्बों, शहरों और गाँवों में अच्छे आवास की सुविधा प्रदान करने का प्रयास है ताकि उन्हें सशक्त बनाया जा सके।
  • इस योजना के तहत, कामकाजी महिलाओं को उनके बच्चों की देखभाल की सुविधा के साथ सुरक्षित और सुलभ आवास का पहुंचाना है। नए हॉस्टल की स्थापना, नए भवनों का निर्माण, और आवास सुविधाओं का विस्तार किया जा रहा है।
  • इस योजना में, जो भी महिलाएं नौकरी के लिए ट्रेनिंग ले रही हैं, उन्हें भी आवास की सुविधा दी जाएगी, साथ ही उन्हें कुछ नियम शर्तों के साथ नौकरी में मदद करने का प्रयास किया जाएगा।

Working Women Hostel yojana Eligibility (योजना हेतु पात्रता)

काम करने वाली महिलाओं को एक सुरक्षित छात्रावास मिलने की योजना के लिए कुछ नियम हैं। इसके लाभ के लिए योग्यता निम्नलिखित है –

  • न सभी महिलाओं को योजना का लाभ मिलेगा जो काम करती हैं।
  • उन महिलाओं को योजना में शामिल होने की अनुमति है जो अकेली, विधवा, तलाकशुदा, अलग या विवाहित हैं।
  • उनके पति या कोई रिश्तेदार उनके साथ एक ही शहर या क्षेत्र में नहीं रहते।
  • जो महिलाएं वंचित समुदाय से हैं, उन्हें प्राथमिकता दी जाएगी।
  • योजना में सीटों की आरक्षण मिलेगा जिन महिलाओं की शारीरिक कमजोरी है।
  • वे महिलाएं जिन्हें नौकरी के लिए ट्रेनिंग पीरियड एक साल से अधिक नहीं है, उन्हें भी योजना का लाभ मिलेगा।
  • प्रशिक्षण लेने वाली महिलाओं की संख्या काम करने वाली महिलाओं की 30% होनी चाहिए।
  • उन महिलाओं को योजना का लाभ मिलेगा जिनके बच्चों का कोई देखभाल करने वाला नहीं है और उनके बच्चों की उम्र 9 से अधिक लड़कों के लिए और 15 से अधिक लड़कियों के लिए हो।
  • गरीबी रेखा से नीचे वाली महिलाएं भी योजना के लाभार्थी होंगी।
  • उन महिलाओं को योजना के लिए आवेदन करने की अनुमति होगी जिनकी आय 50 हजार से कम है और उनकी उम्र 18 साल से अधिक है।

कामकाजी महिला छात्रावास योजना के लिए आवश्यक दस्तावेज

  • आधार कार्ड
  • पैन कार्ड
  • महिला का पता और ऑफिस का मोबाइल नंबर
  • वर्किंग प्लेस आईडी
  • पासपोर्ट साइज फोटो

Working Women Hostel Scheme 2024 की मुख्य विशषताएँ

  • महिलाओं को घर की तरह बनाकर उनकी आराम से रहने के लिए सरकार 70 हजार हॉस्टल (छात्रावास) बना रही है। अब तक करीब 938 हॉस्टल तैयार हो चुके हैं।
  • इन हॉस्टलों में काम करने वाली महिलाओं की मदद के लिए, वहाँ डे केयर सेंटर भी होगा। यहाँ महिलाओं के बच्चों की देखभाल की जाएगी, जब वे काम पर होंगी। इस सेवा का कुछ अतिरिक्त पैसा लगेगा, जो महिलाओं को योजना के तहत दिया जाएगा।
  • ये हॉस्टल काम करने वाली महिलाओं को 3 साल तक ही रहने की सुविधा देगे। कुछ खास हालातों में, महिलाओं की रहने की अवधि बढ़ाई जा सकती है।

Working Women Hostel Scheme Online Apply

महिलाएं जो वर्किंग वोमन हॉस्टल स्कीम के तहत आवेदन करना चाहती हैं, उन्हें अपने राज्य के महिला एवं बाल विकास विभाग से संपर्क करना होगा। उसके बाद, वह महिलाएं कामकाजी महिला छात्रावास योजना का लाभ उठा सकती हैं।

Conclusion:

दोस्तों, हमने Working Women Hostel Scheme के संबंध में आप सभी को महत्वपूर्ण सूचना प्रदान की है। अगर फिर भी आपको किसी भी प्रकार की समस्या का सामना करना पड़ रहा है, तो आप कमेंट के माध्यम से हमें जानकारी दे सकते हैं। आपका हर एक कमेंट हमारे लिए महत्वपूर्ण होता है। हम आपकी समस्या का समाधान करने के लिए लगातार प्रयास करेंगे। हमारी वेबसाइट https://dailyupdateshq.com पर आने के लिए आपका धन्यवाद, और नवीनतम अपडेट के लिए बने रहें।

FAQS

Q1.कामकाजी महिलाओं के लिए आवास योजना का लाभ उठाने के लिए उनकी महीने की कमाई क्या होनी चाहिए?

‘कामकाजी महिला आवास योजना’ के तहत, यदि कोई महिला बड़े शहरों में है तो उसकी मासिक आय 50 हजार रुपए होनी चाहिए, और अगर वह किसी अन्य स्थान में है तो 35 हजार रुपए होनी चाहिए।

Q2.Working Women Hostel yojana का लाभ किसे मिलेगा ?


सभी महिलाओं को लाभ होगा जो शहर से दूर हैं और काम करती हैं। इसमें एकल, विवाहित, तलाकशुदा, और विधवा महिलाएं भी शामिल होंगी। इस योजना में समाज से वंचित और दिव्यांग महिलाओं को भी महत्वपूर्ण हिस्सा मिलेगा।

2 thoughts on “Working Women Hostel Scheme 2024| महिलाओ को आत्मनिर्भर बनाने के लिए”

Leave a Comment